एक लिफापा मदद वाला /सेवा ही धर्म

"सेवा ही सुकून"

चलो घर से बाहर निकला जाये
सच को देखा,समझा जा़ये |
चलो घर से बाहर निकला जाये
सच को शीष नवाया जाये |

ब्लॉगर
आकांक्षा सक्सेना
































...🙏धन्यवाद भगवान🙏...

Comments

  1. वाह! बहुत सुन्दर आकांक्षा| मन गद्गद् हुआ देखकर|

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

एक अश्रुकथा / कथा किन्नर सम्मान की...

स्टार भारत चैनल का फेमस कॉमेडी सो बना 'क्या हाल मि. पांचाल' :

सेलेब टॉक : टीवी सैलीब्रिटीस 'इकबाल आजाद' जी का ब्लॉग इंटरव्यू |