Posts

Showing posts from June, 2017

परिवर्तन भारत : व्यवस्था परिवर्तन

Image
वर्तमान के समस्त अन्यायपीड़ित हिन्दुस्तानियों को चाहिये अपनी पारदर्शी न्यायपालिका की संघात्मक ईश्वरीय कार्यप्रणाली :
          परमहंस श्री रामकृष्णदास जी के शिष्य राजर्षि स्वामी विवेकानन्द जी ने अमरीका के शिकागो शहर में आयोजित विश्व सर्वधर्म सम्मेलन में मौजूद अमरीका की सभी महिलाओं एवं सभी पुरूषों को, "अमरीका के सभी बहनों एवं भाइयों" सम्बोधित कर "शून्य" विषय पर लगातार 72घंटे व्याख्यान देकर अपने हिन्दुस्तान के रिश्तों, मैत्री एवं सांस्कृतिक सम्बंधों के नैतिक गुण मूल्यों के सत्यवादी हिन्दु धर्म एवं परोपकारी हिन्दू कर्म का विश्वविजयी परचम लहराकर स्वंय को विश्व के सभी धर्मों का विश्वगुरू सिद्ध कर दिया था कि "शून्य " ही बृह्माण्ड है, इसके अंदर ही सबकुछ है, इसके बाहर कुछ नही है |         इन्हीं विश्वगुरू राजर्षि स्वामी विवेकानन्द जी के शिष्य एवं वैरिस्टर जानकीनाथ बोस जी के सुपुत्र आई.सी.एस. ऑफीसर टैक्स कलेक्टर एवं आजादहिन्द फौज के मुखिया नेताजी श्री सुभाषचन्द्र बोस जी ने हिन्दुस्तान में डटे 200वर्षों से ब्रिटिश के अंग्रेजों को, जिनसे तत्कालीन हिन्दुस्तानी अन्याय…

विश्वरक्तदाता दिवस पर विशेष :

Image
आओ करें 'रक्तदान' ................................................


स्वेच्क्षा से करो रक्त दान
जीवन बचाओ करो नेक काम

दोस्तों! आपको यह तो पता ही होगा कि रक्तदान एक महान दान है जो नवजीवन प्रदान करता है और इसी महान संदेश को जन-जन तक पहुंचाने हेतु 14 जून को विश्व रक्तदाता दिवस मनाया जाता है | इसका मतलब यही है कि जब भी जिस व्यक्ति को रक्त की आवश्यकता हो उसकी रक्तदान कर मदद  की जाये | आप जानते ही होगें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने रक्तदान को बढ़ावा देनेके लिए 14 जून को ही विश्व रक्तदाता दिवस के तौर पर क्यों चुना ! दरअसल कार्ल लेण्डस्टाइनर (जन्म- 14 जून /1868- मृत्यु-26 जून 1943) नामक अपने समय के विख्यात ऑस्ट्रियाई जीवविज्ञानी और भौतिकीविद् की याद में उनके जन्मदिन के अवसर पर यह दिन तय किया गया है| इन्होंने रक्त में अग्गुल्युटिनिन की मौजूदगी के आधार पर रक्त का अलग अलग रक्त समूहों - ए, बी, ओ में वर्गीकरण करके चिकित्साविज्ञान में मानवताहित में लोक कल्याण हेतु अपना अहम योगदान दिया और इसी दिन विश्वभर में लोग स्वेच्क्षा से रक्तदान करते हैं लेकिन विडम्बना यह है कि  जिस हिसाब से करना चाहिये …

हिन्दुस्तान के अधिवक्ताओं की क्रेडिट वैल्यू :

Image
हिन्दुस्तान के अधिवक्ताओं की क्रेडिट वैल्यू ......... ............ ......... ......... .......
      जब से हिन्दुस्तान स्वतंत्र, आजाद व मुक्त हुआ है, तब से लेकर अब तक हिन्दुस्तान के सभी अधिवक्ता, हिन्दुस्तानी पीड़ितों की स्वंय सहायता सेवा करते चले आ रहे हैं | तब से लेकर अब तक के हिन्दुस्तान के सभी अधिवक्ताओं ने अपना पूरा जीवन पीड़ितों की स्वंय सहायता सेवा में लगा दिया है | तब से लेकर अब तक के हिन्दुस्तान के सभी अधिवक्ताओं ने कभी भी अपने हित के बारे में विचार नही किया है कि स्वदेशी एवं विदेशी फाईनेन्स कम्पनीज की नजरों में हिन्दुस्तान के सभी अधिवक्ताओं की क्रेडिट वैल्यू (औकात )  क्या है ? वर्तमान में हिन्दुस्तान के सभी अधिवक्ताओं की स्वदेशी एवं विदेशी फाईनेन्स कम्पनीज की नजरों में कोई क्रेडिट वैल्यू नही है |        जब हिन्दुस्तान के सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश, हिन्दुस्तान की सभी अदालतों में विचाराधीन करोड़ों मामलों को समयावधि में निपटाने हेतु अनेकों न्यायाधीशों की मांग न करके हिन्दुस्तान के प्रधानमंत्री से अपने नेक व एक सर्वोच्च मुख्य सह- न्यायाधीश एडवोकेट गवर्नर जनरल की मांग …