Posts

Showing posts from January, 2017

सभी हिन्दुस्तानियों को 68वें गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें |

Image
!! जय हिन्द जय भारत !!
!! वंदेमातरम् !!

आजादी के मायने :

Image
आजादी के मायने ........................
दोस्तों, यह आजादी शब्द हम सभी ने सुना है और क्यों न इस शब्द की हकीकत को जाने इसके मायने को समझने की कोशिस करें कि जब बहुत सारे पंक्षी पंख फैलाये नीले आकाश में उड़ते चले जाते हैं तो वह दृर्श्य बहुत मनोरम होता हैं क्योंकि प्रकृति का प्राकृतिक स्वभाव बहुत ही सुन्दर और प्यारा और मोहक है क्योंकि प्रकृति प्रेम देती बंधन नहीं | जैसे कोई शेर जब जंगल में रहता है तो वह जंगल का राजा कहलाता है और जब वही शेर पिंजड़े में रहता है तो केवल एक सामान्य आश्रित पालतू पशु ही उसकी पहिचान बन जाती है | उसकी आजादी उसके जंगल के प्राकृतिक जीवन में है न कि पिजड़े में आश्रित अप्राकृतिक जीवन में |  दोस्तों! गुलामी, प्रेम तथा विकास व विराटता के मार्ग को अवरूद्ध कर देती है | इसीलिये सभी इंसान, जीव व प्राणी जगत को आजादी प्रिय है | आजादी हमें खुलकर जीना सिखाती है | हमें पंख रूपी जज्बा देती है पर इसका यह मतलब कतई नही कि हम हमारे निजीहित में किसी दूसरे के पंख ही काट दें | हम हमारी ऊर्जा अपने साथी को गिराने व तोड़ने में लगा रहे हैं| हम जलन त्यागें और व्यक्ति के भरोसे को न तोड़े बल्…

गणतंत्र दिवस पर विशेष :

Image
़़़़़़

आजादी के मायने ..........................
दोस्तों, यह आजादी शब्द हम सभी ने सुना है और क्यों न इस शब्द की हकीकत को जाने और इसके मायने को समझने की कोशिस करें कि जब बहुत सारे पंक्षी पंख फैलाये नीले आकाश में उड़ते चले जाते हैं तो वह दृर्श्य बहुत मनोरम होता हैं क्योंकि प्रकृति का प्राकृतिक स्वभाव बहुत ही सुन्दर और मनमोहक है क्योंकि प्रकृति प्रेम देती बंधन नहीं |जैसे कोई शेर जब जंगल में रहता है तो वह जंगल का राजा कहलाता है और जब वही शेर पिंजड़े में रहता है तो केवल एक सामान्य आश्रित पालतू पशु ही उसकी पहिचान बन जाती है | उसकी आजादी उसके जंगल के प्राकृतिक जीवन में है न कि पिजड़े में आश्रित अप्राकृतिक जीवन में|          दोस्तों! गुलामी, प्रेम तथा विकास व विराटता के मार्ग को अवरूद्ध कर देती है | इसीलिये सभी इंसान, जीव व प्राणी जगत को आजादी प्रिय है |आजादी हमें खुलकर जीना सिखाती है और सपनों में उड़ने के
साथ-साथ अपने सपनों को हकीकत में ढ़ालने में पूर्ण योग्यदान देती है | आजादी स्वभिमान की पोषक होती है |आजादी का मतलब यही है कि हम हमारे अंदर की बुराईरूपी बेड़िय…

23 जनवरी नेताजी श्री सुभाषचन्द्र बोस जयन्ती पर विशेष :

Image
भारतीयों के आदर्श एवं उनकी आदर्श विचारधारा : ......... नेताजी श्री सुभाषचन्द्र बोस......
नेताजी श्री सुभाषचन्द्र बोस जी का जन्म दिनाकं 23 जनवरी सन् 1897 को उड़ीसा में कटक के एक सम्पन्न बंगाली कायस्थ परिवार में हुआ था और सन् 1937 में उनका विवाह उनकी सेक्रेटरी आस्ट्रेलियन युवती ऐमिली के साथ हुआ|
   उन्होने आईसीएस की परीक्षा निर्धारित समय से पूर्व ही पूरी की थी और वह प्रथम श्रेणी के आई.सी.एस ऑफीसर कलेक्टर बने | इस प्रकार उन्होने अपने पिता वैरिस्टर श्री जानकीनाथ बोस की इच्छा पूर्ण की | आजाद हिन्द फौज के सेनापति बनकर उन्होने अपने बड़े भाई महान वैज्ञानिक डा.जगदीश चन्द्र बोस एवं रासबिहारी बोस जी की इच्छा पूर्ण की | आजाद हिन्द फौज में महारानी लक्ष्मीबाई रेजीमेन्ट बनाकर उन्होने अपनी माता श्री मति प्रभावती जी की इच्छा पूर्ण की तथा अपनी पत्नि श्री मति ऐमिली बोस को अनीता बोस पुत्रीरत्न देकर अपनी पत्नि की इच्छा पूर्ण की | 15 अगस्त सन् 1942 को  सिंगापुर में भारतवर्ष की स्वतंत्रता, आजादी व मुक्तता का तिरंगा लहराकर अपने गुरू राजर्षि स्वामी विवेकानन्द जी की इच्छा पूर्ण की | भारत में 200 वर्षों से शास…

मिला सम्मान

Image
जिले औरैया के सामाजिक संगठन चित्रांश सभा ने किया सम्मानित | आपके द्वारा मिले इस सम्मान के लिये आपसभी को सहृदय ससम्मान धन्यवाद |इसके बाद गौशाला में गौ माता के साथ कुछ फोटो |





.......धन्यवाद......















एक घटना ...बुजुर्गों के सम्मान को समर्पित

Image
नमस्कार दोस्तों
एक पुरानी घटना आप के बीच रख रही हूँ.....

एक घटना सुनाती हूँ आपको|उस दिन हमारा कानपुर में टीजीटी का टेस्ट था तो बसों में भारी भीड़ थी | हम ऐसी भरी एक बस में चढ़े क्योंकि सभी बहुत ज्यादा भरीं आ रहीं थीं|
    बस में बहुत लोग खड़े थे सीट सब भरीं थी | हम भी खड़े थे | हमको खड़ा देख कर कुछ लोग बोले लड़की जात है इनको भाई को जगह दे दे थोडा खिसक जाओ भाई | हम चुप खड़े थे | तो कुछ लोग बोले बिटिया बैठ जाओ कब तक ....खड़ी रहोगी !
हमने लाईन में खड़े लोगों की तरफ एक नजर डाली...तो बिना बोले रहा न गया...हमने कहा भाई हम खड़े हैं और दो तीन घण्टे खड़े सफर कर सकती हूँ भाई पर...जरा देखो ये चार बुजुर्ग जिनकी हालत देखो बीमार लग रहे हैं | जरा जगह इनको दे दीजियेगा | यह सुनने के बाद केवल एक थोडा सा खिसका | हमने कहा कि अगर ये बुजुर्ग लोग आपके सगे नाना, फूपा, बाबा -दादा होते तो क्या फिर भी आप अपनी सीट पर ऐसे ही बैठे रहते |
यह सुनकर तुरन्त चार लड़के उठे और उन बुजुर्ग को विंडो सीट मिल गयी वो मुस्कुरा रहे थे | उनमें से एक बुजुर्ग लड़खड़ाती आवाज में बोला कि बिटिया ये जो आगें की सीट पर प्रोफेसर साहिब बै…

समाजसुधारक शब्द

Image
.....धन्यवाद दोस्तों....

नववर्ष 2017 का हो शुभ आगमन, जनजन में हो सत्य जागरण..

Image
हमारे सभी दोस्तों को नववर्ष 2017 की हार्दिक शुभकामनायें | भगवान श्री कृष्ण जी आप सभी दोस्तों के सभी सपनों को जल्द से जल्द साकार करें |
समाज और हम ब्लॉग की तरफ से आप सभी मित्रों को नववर्ष की ढे़रसारी शुभकामनायें और हमारी आपकी पत्रिका सच की दस्तक की तरफ से आप सभी को नववर्ष की हार्दिक बधाई | ईश्वर से प्रार्थना करती हूँ कि वर्ष 2017 आपसभी के लिये शुभ और यादगार रहें|



यदि कोई भी मित्र हमारे साथी लिखने का जुनून रखते हों तो अपने लेख इस मेल आईडी पर मेल करें

sachkidastak.1516@gmail.com

हमें आपके लेख और सुझावों का इंतजार रहेगा |
धन्यवाद |

.......धन्यवाद दोस्तों......