Posts

Showing posts from October, 2016

दीपावली महापर्व पर विशेष :

Image
ऐसे करें अंधकार को प्रकाशित ....................................

बैंकों की तर्ज पर हो सभी शिक्षालयों का राष्ट्रीयकरण :
भारतीय संविधान में दिये समानता के अधिकार के तहत लिंग न्याय को ध्यान में रखते हुये मा. भारतीय सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश महोदय को किसी भी मामले में भारतीय जनजीवनहित में व उनके सर्वोच्चन्यायहित में व्यक्तिगत संज्ञान लेते हुये अपने फैसले के तहत भारत की केन्द्र सरकार एवं समस्त राज्यों की सरकारों को शीघ्रातिशीघ्र अपने तत्काल प्रभाव से आदेशित करना चाहिये कि वह भारत के समस्त कानूनों में तथा वर्तमान सभ्य भारतीय समान नागरिक आचार संहिता में भारतीय नागरिकों के विवाह, जन्म व मृत्यु के पंजीकरण, बीमाकरण व लाईसैंसीकरण के अधिनियमों के तहत संचालित भारतीय नागरिकों के विवाह, जन्म व मृत्यु के पंजीकरण, बीमाकरण व लाईसैंसीकरण के सर्वोच्च न्यायिक दस्तावेजी साक्ष्य अभिलेखानुसार विवाहित, जन्में व मृतक स्त्री, पुरूष व किन्नर भारतीय नागरिक व्यक्ति की समदर्शी, पारदर्शी एवं सर्वोच्च न्यायिक स्पष्ट परिभाषा दर्ज कर इन अधिनियमों का उल्लंघन अक्षम्य अपराध दर्ज करें तथा इन अधिनियमों का उल्लंघ…

मुस्लिम महिलाओं पर अत्याचार कब तक. ......?

Image
जैण्डर जस्टिस  : एक देश एक कानून  ............................................

प्रगतिशील लोगों का तर्क है कि जब अन्य धर्मों की महिलाओं के जैण्डर जस्टिस के लिये तमाम संवैधानिक नियम,अधिनियम एवं कानून बनाये गये है तो मुस्लिम महिलाओं को इनसे महरूम क्यों रखा जा रहा है ? सभ्य भारतीय समान नागरिक आचार संहिता को लेकर देश में गर्मीगर्म बहस का दौर जारी है | हिन्दुस्तानी जहालती उलेमा तीन तलाक एवं बहुविवाह के विरोधी क्यों नहीं हैं| क्या वे भारत में इस्लाम के पूर्व के अरबों के जहालत युग को कायम रखना चाहते हैं ? इस युग में जैसे वर्तमान में भारत में भी मुस्लिम बालकों की बाल्यावस्था में  मुसलमानी खतना के द्वारा उनकी मुस्लिम पहिचान बना दी जाती है | उसी प्रकार अरब में जहालत युग में मुस्लिम बालिकाओं की बाल्यावस्था में इसी प्रकार सुन्नत प्रथा द्वारा उनकी मुस्लिम होने की पहिचान बना दी जाती थी | इस प्रक्रिया से अक्सर बालिकाओं की मृत्यु हो जाया करती थी | इस प्रकार की महिलाओं से संतानोत्पत्ति सम्भव नहीं थी परन्तु फिर भी उनसे निकाह किया जाता था | तीन तलाक के द्वारा विवाह सम्बंध विच्छेद हो जाता था और महिला को …

अादर्श व्याख्यान

जस्टिस काटजू का अंतराग्नि से भरा व्याख्यान ......... ....... ........ ..............................
कानपुर आई आई टी के सांस्कृतिक महोत्सव "अंतराग्नि" में अपने व्याख्यान के दौरान मा.भारतीय सर्वोच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश श्री मार्कंण्डेय काटजू ने कहा कि अंग्रेजों ने महात्मा गाँधी व जिन्ना का इस्तेमाल किया जिसके नकारात्मक परिणाम सामने आये | चीन पाकिस्तान के पीछे खड़ा है | देश के सैनिकों को बलि का बकरा बनाया जा रहा है | जिन्हें आरक्षण प्राप्त है वे सभी अब समर्थवान है और महिलाओं को भी आरक्षण की जरूरत नहीं | वे भी समर्थवान है और यदि सुविधायें देनी ही हैं तो उन्हें दी जायें जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं | इस देश को अच्छी शिक्षा व अच्छे रोजगार की जरूरत है | उन्होने कहा राजनीति एक ऐसा पेशा बन गयी है कि जहाँ  धर्म व जाति के नाम से खेल होता है | लोकसभा का चुनाव लड़ने में 10करोड़ रूपैया खर्च होता है | ऐसे में तो भ्रष्टाचार होना ही है | इससे नौकरशाही भी अछूती नहीं है | देश के कानून एवं न्याय व्यवस्था से देश की व्यवस्था ही ध्वस्त हो रही है | इसे बचाने के लिये क्रांति व शस्त्र क…

सभ्य भारतीय समान नागरिक आचार संहिता पर मचा है घमासान.....

सभ्यभारतीय समान नागरिक अाचार संहिता पर मचा घमासान ............................
विश्व में विश्वव्यापी अमीरों का विश्व व्यापार संगठन एक ऐसा विश्वव्यापी काम कर रहा है जो विश्व के प्रत्येक देश में गरीबी को मिटाने के लिये हर तरीके से गरीबों को ही मिटाने में न जाने कब से लगा हुआ है | इस संगठन की गैरअंतर्राष्ट्रीयकृत निजी स्विस बैंक है जिसकी कोओपरेटिव बैंक के नाम से शाखायें विश्व के सभी देशों में सभी जगह मौजूद हैं जिनमें सभी देशों के सभी अमीर लोग अपने जीवन के टैक्स चोरी का बकाया काला धन बहुत बड़े पैमाने पर जमा करते हैं जिससे यह संगठन अपना मिशन पूरा करता चला आ रहा है |
     चूंकि भारत गरीब व अशिक्षित किसानों एवं मजदूरों का एक कृषि व मजदूरी प्रधान देश है |भारत में भरण पोषण का कृषि किसानी एवं मजदूरी के सिवाय कोई अन्य मजबूत विकल्प नही है |भारत की मूल अर्थव्यवस्था कृषि किसानी व मजदूरी आधारित है जिसकी तथा छोटे, मध्यम एंव बड़े उद्दोगों की भी वर्तमान में बहुत दयनीय दशा है |
      भारत ने विगत हजारों वर्षों से स्वदेशी लोगों की एंव विदेशी डचों, पुर्तगालियों, यूनानियों ,मुगलों एंव ब्रिटिश के अंग्रेजों…

Motivation wallpaper

Image

मत हो निराश......जीवन जीने का है नाम.....

Image
आपका टैलेन्ट आपकी मेहनत ही आपका सच्चा दोस्त  है जो आपको कभी भी धोका नही देगा....
आगें बढ़ो और बढ़े चलो....













.......धन्यवाद दोस्तों.........


निराश हों फिर भी ना करें आत्महत्या ......

Image
ना करें आत्महत्या ...............................
आत्महत्या करने का मन करे तो  अच्छा साहित्य पढ़ें |
 "प्लीज मत करें आत्महत्या "
करना है तो नकारात्मक विचारों की हत्या करें...
परिस्थितियों से घबरायें नहीं

यह सख्त टीचर है आपको सही मार्गदर्शन देकर जायेगीं|हर किसी ईमानदार मेहनती और अच्छे इंसान के जीवन में एक कठिन वक्त जरूर आता है और उस वक्त में ऐसा लगता है कि चारों ओर अँधेरा है और दूर -दूर तक कोई नही है | ऐसा लगता है कि अपने भी बस हमसे स्वार्थवश ही जुड़े हैं | माता पिता भाई रिश्तेदार सिर्फ और सिर्फ तरक्की ही देखना चाहते हैं | वह हमेसा तुलना करते हैं कि उसकी सरकारी नौकरी लग गयी वो सैटल हो गया हमारी औलाद कुछ न बन सकी हमारी परवरिश में खौट रही | पता नहीं क्या पूर्वजन्म के बुरे कर्म किये होगें | लड़को से अक्सर कहा जाता कि दिन भर नेट पर लगे हो जॉब का कुछ सोचा है वो देखो अमेरिका बस गया तुम्हारा तो कुछ नही हो सकता | रिश्तेदार की फ्री की एडवाइश शादी कर दो शायद कमाने लगे | शादी के बाद बोलते कि क्या हमारे दम पर की थी, कब कमाओगे ? बहू के पाँव भी शुभ नही रे! बाबा | गल्ती खुद की बेटे की पर भ…

अपराधीकरण चरम पर.....

Image
अपराधीकरण से देश की महिला न्यायाधीश भी सुरक्षित नहीं...
भारतीय संविधान में दिये " समानता के अधिकार" के तहत मा. भारतीय सर्वोच्च न्यायालय के न्यायमूर्ती कुरियन जोसफ व मा. आर.एफ नरिमन ने घरेलू हिंसा से महिलाओं के संरक्षण अधिनियम 2005 में दर्ज धारा 2(क्यू) में दर्ज "वयस्क पुरूष" वाला अंश हटाया जाने का फैसला कर आदेश भारत सरकार को महिलाओं के आदर व सम्मान को ध्यान में रखते हुये जारी किया | इस आदेश को जारी हुऐ अभी समय भी न बीता था कि देश के उ.प्र जिला जालौन उरई निवासी कानपुर नगर थाना कैंट क्षेत्र अन्तर्गत स्थित सर्किट हाउस के सरकारी आवास बी-2 में कानपुर देहात की गर्भवती महिला ज्यूडीशियल मजिसट्रेट श्री मति प्रतिभा गौतम की हिंसा उनके पति मनुअभिषेक राजन एडवोकेट ने कर शव को पंखे के हुक में टांग दिया उनके दोनों हाँथों की नसें कांट दीं | अपनी ओर से आत्महत्या की सूचना कोतवाली को दे दी | कोतवाली के लोग उनके शव को टैम्पों से कोतवाली लाये और बिना प्रपत्र दिये पोस्टमार्टम हाउस उसी टैम्पों से ले गये | पोस्टमार्टम कराने के बाद उनके शव को उसी टैम्पों से उनके परिजन उरई ले गये और वहाँ उनक…

wallpaper

Image
अगर भगवान श्री राम हो तो ही रावण पर तीर चलाना क्योंकि उन्हें जलाया तो विभीषण ने था..प्रभु श्री राम ने नहीं .....



ऐसे मनायी हमने नवरात्री

Image
नवरात्री के पावन पर्व पर कन्याओं को पढ़ाई के प्रोत्साहनहेतु पाठ्य सामग्री वितरित की |
'बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ'
आप सभी को हमारी व हमारे परिवार की ओर से दुर्गाष्टमी,रामनवमी व दशहरा पर्व की बहुत बहुत शुभकामनायें ।
    माँ व प्रभु का आशीर्वाद आप पर ,आपके परिवार पर,और आपके शुभचिंतकों पर बनी रहे|






सर्वोच्च न्यायालय का सराहनीय फैसला

Image
सर्वोच्च न्यायालय का सराहनीय फैसला ..................................................

भारतीय संविधान में दिये गये "समानता के अधिकार" को ध्यान में रखते हुये तथा उम्र व लिंग का लिहाज किये बिना माननीय भारतीय  सर्वोच्च न्यायालय के मा. न्यायमूर्ती श्री कुरियन जोसेफ व माननीय न्यायमूर्ती श्री आर.एफ नरीमन महोदय ने देश की भारत सरकार को आदेशित किया है कि घरेलू हिंसा से महिलाओं के संरक्षण अधिनियम सन् 2005 की धारा 2(क्यू) में दिया गया "वयस्क पुरूष" वाला अंश हटा दिया जाये | शीर्ष न्यायालय ने यह माना है कि घरेलू हिंसा करने में महिलाओं के ससुराल पक्ष के 16-17 साल के लोग तथा ससुराली रिश्तेदार महिलायें भी पीछे नहीं है लिहाजा उन्हें भी इस कानून के शिकंजे में लिया जाना न्याय संगत है | अब महिलाओं के ससुराल का कोई भी नावालिक एंव वालिग व्यक्ति इस कानून के शिकंजे से बच नहीं पायेगें| जो अब तक इस कानून से बचते आ रहे हैं | मा. न्यायमूर्तीगणों  ने जो यह ऐतिहासिक और सराहनीय फैसला दिया है वह इनके द्वारा समदर्शी एंव पारदर्शी विषम परिस्थितियों में अपनी ससुराल में पीड़ित महिलाओं को दिया गया उनका…

शुभकामनायें |

Image
* आप सभी को महाष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें,  माता रानी की कृपा आपके पूरे परिवार पर सदैव बनी रहें।*






किराये की कोख

Image
किराये की कोख .....................

इस देश में सभ्य मानवता का, नैतिकता का एंव चरित्रता का पूरा पतन हो चुका है | एक तरफ देश में महिलाओं की पूजा होती है, बेटी बचाओ व बेटी पढ़ाओ तथा बेटी को आत्मनिर्भर बनाओ , महिलाओं की इज्जत आबरू बचाने की एंव उनके आत्मसम्मान को कायम रखने के बहुत बड़ी लम्बी चौड़ी बातें की जाती हैं और दूसरी तरफ इन महिलाओं के दूसरों के बच्चों को पैदा करने के लिये उन्हें व उनकी कोख को किराये पर देने के प्रावधान बनायें जाते हैं और उन्हें बच्चों को पैदा करने की यांत्रिक वस्तु समझा जाता है | क्या ऐसी महिलाओं से जन्मीं संताने इन्हें अपनी माँ कह सकेगीं ?
क्या ऐसी जन्मी संताने अपने पिता को सम्मान की दृस्टि से देखेगें ? क्या ऐसी संतानों को समाजी सम्मान प्राप्त हो सकेगा | क्या ऐसी महिलाओं को कभी समाजी सम्मान प्राप्त हो सकेगा ? क्या इस देश की महिलाओं को ऐसा बनाया जायेगा जैसा बनाया जा रहा है | क्या इसकी आड़ में मानव अंगों की तस्करी को तो अंजाम नहीं दिया जा रहा ? इससे अधिक घ्रणित महिलाओं के सम्मान के विरूद्ध अन्यायी कार्य और क्या हो सकता ? धन्य है इस देश के सत्तासीन और धन्य है हम सभी …

कैसे रोकें मानव तस्करी

Image
कैसें रोकें मानव तस्करी  : ..............................

भारतीय जनजीवन की आखिर वह कौन सी कमजोरी एंव मजबूरी है जिसके तहत भारतीय जनजीवन डचों , पुर्तगालियों, यूनानियों , मुगलों एंव ब्रिटिश के अंग्रेजों का  अपराधयुक्त एंव रोजगारमुक्त गुलाम बनकर हजारों वर्षों तक पीड़ित रहा है | देश की स्वतंत्रता , आजादी व मुक्तता के बाद भारतीय जनजीवन की आखिर वह कौन सी कमजोरी व मजबूरी है जिसके तहत भारतीय जनजीवन वर्तमान में भी स्वदेशी सत्तासीनों , पूँजीपतियों एंव कानूनविदों का अपराधयुक्त एंव रोजगारमुक्त गुलाम है | भारतीय जनजीवन की आखिर ! वह कौन सी कमजोरी एंव मजबूरी है जिसके तहत भारतीय जनजीवन की बहुत बड़े पैमाने पर मानव तस्करी होती है | देश के राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के वर्तमान रिपोर्ट के अनुसार देश से प्रतिवर्ष लगभग 42,000 लोगों की मानव तस्करी होती है | जो लोग इस गोरखधंधे को अंजाम देते हैं | उन्हें यह पता है कि वे जिन विवाहित, अविवाहित व मृतक लोगों की मानव तस्करी कर रहे हैं उनके पास अपने विवाह जन्म व मृत्यु का पंजीकरण बीमाकरण व लाईसैंसीकरण का ना तो प्रमाण पत्र व पहिचानपत्र प्राप्त है और ना ही उनकी विवाह …