Friday, June 26, 2015

सामान्य जाति का होना क्या पाप है???


असली जहर वो होता है जो आत्मा का भी दम घौंट दे......








हमारे देश में समानता का अधिकार है|आपसी भाई-चारे की भावना पर विश्वास करनेवाला देश माना जाता है अपना भारतवर्ष |देश के सभी स्कूल में ढ़ेरों बच्चे पढ़ते है उनको बताया जाता है कि अाप सब हमारे लिये समान हो एक हो पर तभी बच्चे देखते हैं कि हमारे कुछ साथियों को वजीफा सहायता शुल्क,फ्री किताबें,फ्री में यूनीफॉर्म गणवेश मिल रहा है वो परेशान सा अपनी माँ से कहता है माँ आपने वोट दिया? माँ कहती हमेशा देती हूँ बच्चा कहता है तो फिर हमको सुविधायें क्यों नहीं,हम भी गरीब है,बोलो माँ? माँ उसको एकटक देखती रह गयी कि बच्चे को राजनीति समझायी तो उसका कोमल मन पर क्या प्रभाव पड़ेगा| वो बच्चा बड़ा हुअा तो पता चला कि केवल सामान्य जाति को छोड़कर हर जाति को सरकारी सुविधायें मिलती है | वो और बड़ा होता है तो देखता है कि उसने और उसके साथियों ने सरकारी नौकरी के लिये फॉर्म डालने शुरू किये वो देखता कि समान्यजाति के लिये1000 रू का ड्राफ्ट मांगा गया जबकि उसकी आर्थिक हालत बहुत खराब है और वो साथी मित्र आर्थिक तौर पर बहुत मजबूत है पर पीला राशन कार्ड जुगाड़ से बनवा रखा है|दूसरा फॉर्म भरने गये तो हमारे लिये 500रू का ड्राफ्ट और उन सबकेलिये  मात्र 250 रू का इतना पछपात हम सामान्य जाति के छात्रों और बेरोजगारों पर ! यह असहनीय है|
फिर उस बेरोजगार छात्र ने शिक्षक टी. ई.टी की परीक्षा दी तब तो हद ही हो गयी सामान्य जाति के बेरोजगारों के लिये 90 नम्बर में सफल और वो साथी  मित्र 82 नम्बर में शिक्षक बन गये उनकी ज्वाइनिंग हो गयी और जिन सामान्य जाति के भावी शिक्षक के 88नम्बर आये वो बैठे रोते हुऐ यही कहते है सामान्य जाति का होना क्या पाप है??? तो बोलो कहाँ है देश में सामानता का अधिकार ??? राजनीति ने दिलों में जलन का जहर घोल दिया है समाज में......पता नहीं आगें क्या होगा ??????

Monday, June 22, 2015

दरबाजे और चौखट का प्रेम


हाँ मैं दरबाजा हूँ मुझे अपने दरबाजा होने पर गर्व है उससे भी ज्यादा मुझे अपनी चौख़ट पर गर्व है जो मेरा वज़ूद है|

हाँ मैं चौखट हूँ बिना दरबाजे के मेरा भी कोई अर्थ नहीं..











Saturday, June 20, 2015

बेटियों का हक़....मिलेगा उन्हें अब |





हम सरकार से यह गुजारिश करतें हैं कि बेटियों की आत्मरक्षा के लिये अपने देश मेंअंतराष्ट्रीय स्तर का मार्शल आर्ट स्कूल,कॉलेजों की स्थापना की जायें और हर प्रदेश के सरकारी,प्राईवेट स्कूल में अनिवार्य रूप से

यह एक विषय के रूप में इसको लागू किया जाये|

हमको विश्वाश है कि देश के इस सुंदर प्रयास को सम्पूर्णविश्व सराहेगा|

....बेटी सुरक्षित तो देश सुरक्षित |.....


    धन्यवाद

                   ़़़़़़़ ़़़़ समाज और हम

Wednesday, June 17, 2015

global

Samaj aur hum = social soul






                  
                  



Saturday, June 13, 2015